ऑनलाइन रिलेशनशिप मैनेज करना

Parentzone

यह मुमकिन है कि कभी न कभी आपके टीनएजर बच्चे को दोस्ती में कठिनाई का अनुभव हो, फिर चाहे वह पूरी तरह से ऑनलाइन दोस्ती हो या ऑनलाइन-ऑफ़लाइन रिलेशनशिप हो.


चाहे यह कोई मामूली सा झगड़ा हो या मुश्किल पैदा करने वाला, खराब और भावनात्मक रूप से तोड़ देने वाला ब्रेक-अप, यहाँ दिया गया है कि आप किन बातों का ध्यान रख सकते हैं: आपकी शुरुआती प्रतिक्रिया से लेकर उन्हें सकारात्मक रूप से आगे बढ़ने में मदद करना.

ऑनलाइन संबंध का सम्मान करें

दोस्ती और अन्य तरह के सभी संबंध समय-समय पर मुश्किलों के दौर से गुज़रते हैं. भले ही संबंध सिर्फ़ ऑनलाइन ही क्यों न हो, ये भी असली संबंध होते हैं.

आपके टीनएजर बच्चे के लिए लोगों के साथ ऑनलाइन बने रिलेशनशिप उतने ही महत्वपूर्ण हो सकते हैं जितने कि उन लोगों के साथ जिनसे वे स्कूल या वीकेंड पर मिलते हैं. उनके इन दोस्तों को भी जानें और उनका सम्मान करें.

सकारात्मक कदम उठाना

उदाहरण के लिए, यह पता लगाना कि आपके टीनएजर बच्चे ने Instagram पर किसी व्यक्ति को ब्लॉक कर दिया है या उसकी रिपोर्ट की है, यह आपका पहला संकेत हो सकता है कि कुछ गलत हुआ है. लेकिन यह इस बात का संकेत भी हो सकता है कि कुछ सही हुआ है.

अच्छी बात यह है: अगर उन्होंने किसी व्यक्ति की रिपोर्ट की है या उसे ब्लॉक किया है, तो यह एक अच्छा कदम है. इससे आपके बच्चे की आत्म जागरूकता और आत्मविश्वास दिखाई देता है कि उसने खुद को बचाने के लिए उपलब्ध टूल की मदद ली.

ऐसे में जल्दबाजी करना और यह पता लगाना स्वाभाविक है कि क्या हुआ है और क्यों हुआ है. ज़्यादा पूछताछ करने से बेहतर है कि आप बातचीत की शुरुआत यह मानकर करें कि आपके टीनएजर बच्चे ने एक अच्छा कदम उठाया है और उन्हें बताएँ कि आप उनके ऐसा करने से कितना खुश हैं.


सही समय का इंतज़ार करना

एक अच्छे माता-पिता होने के नाते आपके लिए सबसे ज़रूरी है अपने टीनएजर बच्चे के साथ बातचीत करने के लिए सही समय ढूँढना.

साथ का समय वह अनमोल, सुकून भरा समय होता है जब आप उनके जीवन में क्या चल रहा है, इस पर बात और चर्चा कर सकते हैं. यह खाना बनाते समय या कार में सफ़र करते समय हो सकता है. आपको पता चल जाएगा कि अब विषय पर आराम से बात करने का सही समय है.

यह ज़रूरी है कि आप बिना जल्दबाजी किए उस पल के आने का इंतज़ार करें. ज़बरदस्ती करने की कोशिश न करें – वरना बातचीत किसी पूछताछ की तरह लग सकती है.


ऑफ़लाइन नतीजे

चीज़ें तब मुश्किल हो जाती हैं, जब आपका टीनएजर बच्चा अपनी रोज़मर्रा की ज़िंदगी में उस व्यक्ति को देखता है जिसे वह Instagram पर ब्लॉक या रिपोर्ट करना चाहता है – और हो सकता है कि उसे परिणाम की चिंता हो.

अगर उस व्यक्ति को पता चल जाता है कि आपका टीनएजर बच्चा Instagram पर अब उन्हें फ़ॉलो नहीं करता है, तो यह पता लगाना बहुत मुश्किल नहीं होगा कि क्या हुआ होगा.

आप अपने टीनएजर बच्चे को यह सोचने में मदद कर सकते हैं कि अगर दूसरा व्यक्ति उनके सामने परेशानी खड़ी करता है, तो वे इसे कैसे संभाल सकते हैं. आप एक साथ मिलकर कुछ जवाब बना सकते हैं.

बात आगे बढ़ने से रोकने के लिए, इल्ज़ाम लगाने वाली भाषा का उपयोग न करें. जैसे कि वे “आप ऐसे हैं…” के बजाय “मुझे लगता है…” के साथ वाक्य शुरू कर सकते हैं.

आपका टीनएजर बच्चा Instagram पर किसी व्यक्ति को ब्लॉक करने के बजाय उस पर प्रतिबंध भी लगा सकता है. दूसरे व्यक्ति को आपके बच्चे का क्या कंटेंट दिखाई देना चाहिए, उसे कंट्रोल करने या उसके कमेंट को स्वीकार करने के बजाय – आपके बच्चे को यह कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है कि दूसरा व्यक्ति उनके साथ इंटरैक्ट कर सकता है या नहीं या वह किस तरह इंटरैक्ट कर सकता है. यहाँ और पढ़ें.

अपने बच्चे को याद दिलाएँ: हो सकता है कि यह हमेशा ऐसा न लगे, लेकिन सोशल मीडिया पर किसी व्यक्ति को फ़ॉलो करना उनकी निजी पसंद है. वे किसे फ़ॉलो करते हैं यह उन पर निर्भर है.


आप बस उनके मन की बात सुनें

अक्सर, माता-पिता जो सबसे अच्छा काम कर सकते हैं, वह है अपने बच्चे को सुनना. उन्हें अपने मन की बातें शेयर करने दें. हो सकता है कि आपके ज़्यादा कुछ बोले बिना ही वे यह समझ पाएँ कि आगे क्या करना है – आपको बस उन्हें सुनना है.

याद रखें: उन्हें अपनी गलतियाँ करने देना और अपनी चुनौतियों से निपटने देना उन्हें मज़बूत बनाता है. बचपन से आप उन्हें समाज में जीने के जो कौशल सिखाते आ रहे हैं यह उन सभी कौशलों को आज़माने का एक हिस्सा है.

हो सकता है कि इस स्थिति से उनके आगे बढ़ जाने और इस बारे में सब कुछ भूल जाने के अरसे बाद आप अभी भी उनके साथ जो हुआ उस बात को लेकर परेशान या निराश महसूस करें. अहम यह है कि उन्हें अपनी चीज़ों को कंट्रोल करने दें, न कि आप चीज़ों को संभालने की कोशिश करें और हल करें.


आगे बढ़ना

अपने टीनएजर बच्चे से पूछें कि वे आगे क्या करना चाहते हैं. यह मददगार सवाल हो सकता है: क्या यह एक ऐसा संबंध है जिसे वे सुधारना चाहते हैं?

अगर नहीं, तो यह न मानें या अपेक्षा न करें कि वे उस ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म या उन प्लेटफ़ॉर्म से कुछ समय दूर रहें जहाँ संबंध बना था. ऐसा करने से हो सकता है कि उन्हें यह महसूस हो कि वे ज़रूरी सोशल या सपोर्ट नेटवर्क खो रहे हैं.

हालाँकि, उन्हें सोचना होगा कि अगर वे आगे भी संपर्क बनाए रखते हैं तो इसका क्या परिणाम हो सकता है – उदाहरण के लिए, वे कहीं टकरा सकते हैं या अगर ग्रुप छोड़ा तो वे कॉमन फ़्रेंड के साथ संपर्क खो सकते हैं.

उन्हें मानना होगा कि वे किसी व्यक्ति से पूरी तरह से नहीं बच सकते. यह एक मुश्किल स्थिति है, ख़ास तौर पर अगर वे अभी भी उस व्यक्ति के लिए बहुत ज़्यादा महसूस करते हों.

लेकिन आप अब भी उन्हें महसूस करा सकते हैं कि आप उनके साथ हैं. आप प्लान बनाने में उनकी मदद कर सकते हैं कि वे क्या करना चाहते हैं – और उस प्लान को पूरा करने में साथ दे सकते हैं, फिर चाहे वह कुछ दोस्तों या सोशल ग्रुप के साथ पूरी तरह से संपर्क खत्म करना ही क्यों न हो. यह दूसरे व्यक्ति के साथ ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म को शेयर करने की बात को स्वीकार करना भी हो सकता है - और यह जानना भी कि वे कैसी प्रतिक्रिया देंगे.

उनकी इच्छाओं को सपोर्ट करें, ताकि वे आगे होने वाली किसी भी चीज़ को पूरे आत्मविश्वास के साथ संभाल सकें – और उनके खराब अनुभव को आगे के लिए अच्छे अनुभव में बदलने में मदद करें.

क्या आपको और सलाह चाहिए? यहाँ फ़ैमिली सेंटर के और लेख पढ़ें.

क्या आप अपनी लोकेशन के हिसाब से कंटेंट देखने के लिए, कोई और देश या क्षेत्र चुनना चाहेंगे?
बदलें